सूर्य देव को दिया जा रहा है पहला अर्घ्य

आज छठ महापर्व का तीसरा दिन मनाया जा रहा है. शाम को डूबते सूर्य की उपासना की जाएगी और सूर्य देव को पहला अर्घ्य दिया जाएगा. इस अर्घ्य को संध्या अर्घ्य भी कहते हैं. अर्घ्य देने से पहले सूर्य देव और छठी मइया की पूजा की जाती है. छठ व्रत को सबसे कठिन व्रतों में से एक माना जाता है. इसमें महिलाएं अपने सुहाग और संतान की मंगल कामना के लिए 36 घंटों का निर्जला व्रत रखती हैं. छठ पूजा का प्रारंभ चतुर्थी तिथि को नहाय खाय से होता है और सप्तमी के दिन उगते हुए सूर्य को अर्घ्य देने के बाद समाप्त होता है

TAGS